Apple expensive: महंगा हो सकता है सेब, उत्पादन में गिरावट !

Apple can be expensive : महंगा हो सकता है सेब, उत्पादन में गिरावट!

Apple can be expensive

Apple expensive : आम जनता को अभी महंगाई से कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। हरी सब्जियों के बाद महंगे सेब भी आंखों से आंसू निकालेंगे क्योंकि भारी बारिश से इस सीजन में सेव की फसल को भारी नुक्सान पहुंचा है। इससे सेब के उत्पादन में बहुत अधिक गिरावट आने का अनुमान लगाया गया है।

Apple can be expensive

जानकारों का कहना है कि इस सीजन में अधिक बारिश के चलते सेब का रकबा घट गया। खास कर कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में मौसम की मार के चलते 1000 करोड़ रुपए के करीब सेब की फसल बर्बाद हो गई। ऐसे में प्रोडक्शन में गिरावट आने के बाद मार्केट में सेब की सप्लाई पर असर पड़ेगा, जिससे कीमतें 7वें आसमान पर पहुंच सकती हैं।

सेब की फसल

कृषि एक्सपर्ट का कहना है कि सेब का सबसे अधिक उत्पादन कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में ही होता है। इन्हीं दोनों राज्यों से घरेलू खपत की आपूर्ति होती है। इसके अलावा अपने पड़ोसी देश नेपाल और बांग्लादेश में भी ये दोनों राज्य सेब की सप्लाई करते हैं, लेकिन इसकी मात्रा 2 प्रतिशत से भी कम है। वहीं, किसान यूनियन का कहना है कि बारिश के साथ-साथ मौसमी रोगों ने भी सेब की फसल को बहुत अधिक नुक्सान पहुंचाया है। फफूंद संभावना जताई है। की वजह से इस बार सेब की फसल में संक्रमण लग गया, जिससे फल पेड़ों पर ही सड़ने लगे हैं।

भूस्खलन की वजह से 10 प्रतिशत सेब के बगीचे बह गए

संयुक्त किसान मंच के राज्य संयोजक हरीश चौहान ने दावा किया है कि हिमाचल में अधिक बारिश और भूस्खलन की वजह 10 प्रतिशत सेब के बगीचे बह गए। उनका कहना है कि इससे सेब की फसल को भी नुक्सान पहुंचा है, क्योंकि सेब के बाग को पूरी तरह से तैयार होने में लगभग 15 साल लगते हैं।

एप्पल ग्रोअर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया और कश्मीर वैली फ्रूट ग्रोअर्स का कहना है कि इस बार सेब के उत्पादन में भारी गिरावट आएगी। उन्होंने पिछले साल के 1.87 मिलियन मीट्रिक टन की तुलना में उत्पादन में 50 प्रतिशत की गिरावट आने की अनुमान लगाया गया है।

सेब उत्पादक संघ के अध्यक्ष रविंदर चौहान ने बताया कि सर्दियों के दौरान बहुत अधिक बर्फबारी हुई। इसके बाद मार्च और अप्रैल महीने के दौरान बेमौसम बारिश की वजह से फसलें पहले से ही बुरी तरह प्रभावित थीं। वहीं, रही-सही कसर मानसून ने निकाल दी।