Madhya Pradesh Tiger Number: मध्य प्रदेश में बाघों की संख्या देश में सबसे ज्यादा !

Madhya Pradesh Tiger Number: मध्य प्रदेश में बाघों की संख्या देश में सबसे ज्यादा

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि राज्य में 4 वर्षों बाघ दिवस के अवसर पर चौहान ने ट्वीट के जरिए कहा कि यह अत्यंत गर्व और हर्ष का विषय है कि बाघों की संख्या बढ़कर 785 हो गई है।

Madhya Pradesh Tiger Number

Madhya Pradesh Tiger Number

Tiger के 50 साल पूरे होने के मौके पर ‘बाघों की स्थिति 2022’ जारी की के दौरान बाघों की संख्या 526 से बढ़कर 785 हो कम से कम 3167 बाघ हैं। पिछले 4 वर्षों में 50 गई है। यह संख्या देश में सबसे अधिक है। अंतर्राष्ट्रीय प्रतिशत की वृद्धि के साथ देश में मध्य प्रदेश में बाघों की अधिकतम संख्या (785) है, इसके बाद कर्नाटक (563), उत्तराखंड (560) और महाराष्ट्र (444) हैं।

बाघों की संख्या

कुल आबादी बढ़कर 3682 हुई थी तो सरकार ने कहा था कि भारत में बाघों की संख्या 2018 में 2967 से बढ़कर 2022 में 3682 हो गई। इस तरह बाघों की संख्या में 6 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि दर्ज की गई है। शनिवार को अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस पर जारी नवीनतम सरकारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। केंद्रीय वन, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने उत्तराखंड के रामनगर में 2022 के आंकड़े जारी किए। जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अप्रैल में ‘प्रोजैक्ट गिरावट दर्ज की गई है।

बाघों की संख्या में वृद्धि

इस मौके पर अपने संदेश में केंद्रीय वन, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेन्द्र यादव ने कहा, “बाघ संरक्षण में भारत के अनुकरणीय प्रयास और बाघों की संख्या में वृद्धि सिर्फ एक आंकड़ा नहीं है बल्कि राष्ट्र दृढ़ संकल्प और प्रतिबद्धता का एक प्रमाण है।” आंकड़ों से पता चलता है कि अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा, तेलंगाना, छत्तीसगढ़ और झारखंड जैसे राज्यों में पिछले कुछ वर्षों में बाघों की संख्या में गिरावट दर्ज की गई है